1. Home
  2. /
  3. Goverment Schemes/Yojana
  4. /
  5. UDID Card: विकलांग व्यक्तियों...

UDID Card: विकलांग व्यक्तियों के लिए सरकार का नया कदम

UDID Card कई बार ऐसा होता है कि विकलांग व्यक्ति सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं ले पाते हैं क्योंकि उनकी जानकारी न सही होती है और न ही उनके पास उसके लिए आवश्यक दस्तावेज होते हैं।

इस समस्या को दूर करने के लिए सरकार ने यूनिक डिसेबिलिटी आईडी कार्ड (UDID Card) की शुरुआत की है। इसका उद्देश्य विकलांग व्यक्तियों के लिए एक पहचान प्रदान करना है, ताकि वे सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकें।

यूनिक डिसेबिलिटी आईडी कार्ड विकलांग व्यक्तियों को दिया जाने वाला एक कार्ड है। इस कार्ड की जिम्मेदारी दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग की है। ऐसे नागरिक सभी सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे,

जो उनके लिए शुरू की गई हैं। इस कार्ड को प्राप्त करने के लिए विकलांग व्यक्तियों को आवेदन करना होगा। सफल आवेदन के बाद उन्हें एक यूनिक डिसेबिलिटी आईडी कार्ड प्रदान किया जाएगा। यह कार्ड उनके लिए अनिवार्य दस्तावेज के रूप में भी उपयोग किया जा सकेगा। इस कार्ड सरकार को विकलांग व्यक्तियों के बारे में सही जानकारी प्राप्त करने में मदद करेगा और उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने में सहायक होगा।

UDID Card -उद्देश्य

इस परियोजना का उद्देश्य है कि विकलांग लोग एक नया प्रमाणपत्र प्राप्त कर सकें, जिसे UDID Card या विकलांगता प्रमाणपत्र कहा जाता है, ताकि वे सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और उनके विभागों द्वारा चलाई जाने वाली नीतियों व कार्यक्रमों से लाभ उठा सकें। इसके साथ ही विकलांग लोगों के एक राष्ट्रीय डेटाबेस का निर्माण करना और हर व्यक्ति को एक विशेष विकलांगता पहचान पत्र (UDID Card) प्रदान करना है।

यह कार्ड लाभार्थियों के समग्र वित्तीय और भौतिक विकास को ट्रैक करने में भी मदद करेगा और सरकार को विभिन्न प्रकार की योजनाओं को तैयार करने और लागू करने में सहायता करेगा। इस पहल का मुख्य लक्ष्य है विकलांग लोगों के बारे में एक राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार करना और प्रत्येक व्यक्ति को एक विशेष विकलांगता पहचान पत्र प्रदान करना। यूडीआईडी कार्ड न केवल सरकारी योजनाओं के लिए एक प्रमाणपत्र होगा, बल्कि यह भौतिक और वित्तीय प्रगति को ट्रैक करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

Benefits and Features of UDID Card (लाभ और विशेषताएं)

  1. यूडीआईडी या विशिष्ट विकलांगता आईडी एक कार्ड है, जो विकलांग व्यक्तियों को प्रदान किया जाता है। इस कार्ड को जारी करने की जिम्मेदारी दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग की है।
  2. जिन नागरिकों के पास यह कार्ड है, वे सभी सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे, जो उनके लिए शुरू की गई हैं।
  3. इसके अतिरिक्त, सरकार के पास सभी विकलांग लोगों का एक राष्ट्रव्यापी डेटाबेस होगा, जो विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम बनाने और लागू करने में सहायता करेगा।
  4. यह कार्ड सभी आवश्यक विवरण एकत्र करेगा और रीडर की सहायता से डिकोड किया जा सकता है। विकलांग व्यक्तियों को अब विभिन्न कागजात की कई प्रतियां तैयार करने और उन्हें रखने व ले जाने की आवश्यकता नहीं है।
  5. यह कार्ड भविष्य में कई योजनाओं से लाभ प्राप्त करने के लिए पहचान और सत्यापन के लिए एकल दस्तावेज के रूप में काम करेगा।
  6. इस कार्ड का उपयोग करके सभी स्तरों पर लाभार्थी की भौतिक और वित्तीय प्रगति को ट्रैक किया जाएगा।
  7. एक समेकित वेब पोर्टल के माध्यम से यूडीआईडी कार्ड देश भर में विकलांग लोगों का डेटा उपलब्ध कराएगा।
  8. नागरिकों द्वारा पंजीकरण आवेदन पूरा किया जा सकता है और ऑनलाइन जमा किया जा सकता है।
  9. अधिकारी कागजी आवेदन भी स्वीकार करेंगे और स्कैन करेंगे।
  10. इंटरनेट तरीके से नागरिक आसानी से सूचनाओं का नवीनीकरण एवं संशोधन कर सकते हैं।
  11. इसके अतिरिक्त, यह कार्ड डेटा डुप्लिकेशन को रोकने में सहायता करेगा।

UDID Card Eligibility Criteria (पात्रता मापदंड)

  • आवेदक को स्थायी रूप से भारत का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक को विकलांग होना चाहिए।
  • व्यक्ति को न्यूनतम 35% मानसिक विकलांगता या विकलांगता होनी चाहिए।
  • बधिर लोगों के मामले में विकलांगता प्रतिशत 90db से 100db के बीच होना चाहिए।
  • दृश्य हानि 90% से अधिक होनी चाहिए।
  • अंधापन
  • श्रवण बाधित
  • कम दृष्टि
  • कुष्ठ रोग
  • मानसिक बिमारी
  • व्यक्ति की आर्थोपेडिक विकलांगता न्यूनतम 40% होनी चाहिए।

UDID Card Documents Required (आवश्यक दस्तावेज़)

  • निवास प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • आय प्रमाण पत्र

Process for UDID Cards (प्रक्रिया)

  1. विकलांग व्यक्तियों को वेब पोर्टल पर पंजीकरण कराना आवश्यक है।
  2. पंजीकरण के बाद नागरिक विकलांगता प्रमाण पत्र और यूडीआईडी कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  3. नागरिक अपने आवेदन की स्थिति को भी ट्रैक कर सकते हैं।
  4. विकलांगता प्रमाणपत्र या यूडीआईडी कार्ड के नवीनीकरण के अनुरोध पर भी पोर्टल के माध्यम से विचार किया जाएगा।
  5. यदि कार्ड खो जाता है तो नागरिक पोर्टल के माध्यम से दूसरा कार्ड जारी करने का अनुरोध कर सकता है।
  6. नागरिक यूडीआईडी कार्ड को डाउनलोड और प्रिंट भी कर सकते हैं।
  7. चिकित्सा अधिकारियों के लिए सीएमओ कार्यालय भी पोर्टल की मदद से खोजा जा सकता है।
  8. नवीनतम घोषणा को पोर्टल के माध्यम से देखा जा सकता है। पोर्टल के माध्यम से प्रस्तुत की गई जानकारी का उपयोग विकलांगता प्रमाणपत्र जारी करने वाले प्राधिकारी द्वारा इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रमाणपत्र और यूडीआईडी कार्ड जारी करने के लिए किया जाएगा।
  9. सीएमओ कार्यालय या चिकित्सा अधिकारी लाभार्थियों से आवेदन प्राप्त करेंगे।
  10. आवश्यक सत्यापन के बाद विकलांग व्यक्तियों को विकलांगता मूल्यांकन के लिए एक नामित विशेषज्ञ या मेडिकल बोर्ड के पास भेजा जाएगा।
  11. मूल्यांकन के बाद मूल्यांकन विवरण प्रस्तुत किया जाएगा और एक विकलांगता प्रमाणपत्र या यूडीआईडी कार्ड इलेक्ट्रॉनिक रूप से जारी किया जाएगा।
  12. जिला कल्याण अधिकारी या जिला सामाजिक अधिकारी शिविर में काउंटर सुविधा में प्राप्त आवेदनों को प्रदान करके विकलांग व्यक्तियों को विकलांगता प्रमाण पत्र या यूडीआईडी कार्ड प्राप्त करने में सुविधा प्रदान करने के लिए पोर्टल का उपयोग करने के लिए जिम्मेदार होंगे।
  13. यह पोर्टल विभिन्न योजनाओं के कार्यान्वयन की सुविधा भी प्रदान करेगा, जो विकलांग व्यक्तियों के लिए हैं।
  14. परियोजना के कार्यान्वयन और इसकी प्रभावशीलता की निगरानी के लिए जिला कलेक्टर द्वारा एप्लिकेशन का उपयोग किया जाएगा।
Apply Online for Disability Certificate and UDID Card (ऑनलाइन आवेदन करें)

1.सबसे पहले यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट https://www.swavlambancard.gov.in/ पर जाएं।

2.आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।

3.होम पेज पर विकलांगता प्रमाणपत्र और यूडीआईडी ​​के लिए आवेदन पर क्लिक करना होगा।

4.आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।

5.इस नए पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी:-

  • व्यक्तिगत विवरण
  • पता एवं पत्राचार
  • शैक्षिक विवरण
  • विकलांगता विवरण
  • रोजगार का विवरण
  • पहचान विवरण

6.अब सभी जरूरी दस्तावेज अपलोड करने होंगे।

7.इसके बाद आपको सबमिट पर क्लिक करना होगा।

Procedure for Offline Registration (ऑफलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया)

1.यूडीआईडी कार्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

2.आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा।

3.इस पेज पर आपको https://www.swavlambancard.gov.in/files/PWD-form-full.pdf डाउनलोड फॉर्म टैब पर क्लिक करना होगा।

4.अपने फॉर्म का प्रिंट निकाल लें।

5.अब सभी विवरण भरें जैसे-

  • व्यक्तिगत जानकारी
  • पते का विवरण
  • विकलांगता विवरण
  • रोजगार का विवरण
  • पहचान विवरण

6.इसके बाद अपने जरूरी दस्तावेज संलग्न करें और फॉर्म को अपने नजदीकी जिला विकलांगता पुनर्वास केंद्र में जमा कर दें।

Disability Certificate and UDID Card Renewal (विकलांगता प्रमाण पत्र एवं यूडीआईडी कार्ड नवीनीकरण)

1.यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

2.आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।

3.अब विकलांगता प्रमाणपत्र और यूडीआईडी नवीनीकरण के लिए आवेदन पर क्लिक करना होगा।

  1. अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।

5.इस नए पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी:-

  • नामांकन संख्या
  • यूडीआईडी कार्ड नंबर
  • ईमेल आईडी
  • मोबाइल नंबर
  • आवेदक का नाम
  • आवेदक के पिता का नाम
  • जन्म की तारीख
  • पता
  • समाप्ति तिथि
  • विकलांगता प्रकार
  • कैप्चा कोड

6.अब आपको सबमिट पर क्लिक करना होगा।

7.इस प्रक्रिया का पालन करके आप विकलांगता प्रमाणपत्र और यूडीआईडी कार्ड नवीनीकरण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Procedure to Apply For Lost UDID Card (खोए हुए कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया)

  • यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • होमपेज पर आपको खोए हुए यूडीआईडी कार्ड के लिए आवेदन पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज पर आपको अपना नामांकन नंबर, यूडीआईडी कार्ड नंबर और जन्मतिथि दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको सबमिट पर क्लिक करना होगा।

Track UDID Application Status (आवेदन स्थिति ट्रैक करें)

  • सबसे पहले यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • अब आपको ट्रैक योर एप्लिकेशन स्टेटस पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस नए पेज पर आपको अपना नामांकन/यूडीआईडी/अनुरोध नंबर/मोबाइल नंबर/आधार नंबर दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको गो पर क्लिक करना होगा।
  • आवेदन की स्थिति आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देगी।

 

ये भी पढ़ें – AIIMS Patna Senior Resident Notification 2023: 52 पदों के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 5 सितंबर

Download Your E-disability Card And E-UDID Card (ई-विकलांगता कार्ड और ई-यूडीआईडी कार्ड डाउनलोड करें)

  • यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • होम पेज पर डाउनलोड योर ई-डिसेबिलिटी कार्ड और ई-यूडीआईडी विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने लॉगिन पेज आएगा।
  • लॉगिन पेज पर आपको अपना नामांकन नंबर, जन्म तिथि और कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगिन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • आपका ई-विकलांगता कार्ड और ई-यूडीआईडी कार्ड आपके डिवाइस पर डाउनलोड हो जाएगा।

Login on The Portal (पोर्टल पर लॉगइन करें)

  • यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • होमपेज पर लॉगिन विकल्प पर क्लिक करें।
  • आपके सामने लॉगइन पेज आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना नामांकन नंबर या यूडीआईडी नंबर, जन्म तिथि और कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगिन पर क्लिक करना होगा।

Update Personal Profile (प्रोफ़ाइल अपडेट करें)

  • यूनिक डिसेबिलिटी आईडी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  • अब अपडेट योर पर्सनल प्रोफाइल पर क्लिक करें।
  • आपके सामने लॉगइन पेज आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको लॉगिन क्रेडेंशियल दर्ज करना होगा और लॉगिन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपडेट पर्सनल प्रोफाइल पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको मांगी गई जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • इसके बाद आपको अपडेट पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रक्रिया का पालन करके व्यक्तिगत प्रोफ़ाइल को अपडेट कर सकते हैं।

Leave a Comment