1. Home
  2. /
  3. Goverment Schemes/Yojana
  4. /
  5. Rajasthan Mukhyamantri Rajshri Yojana:...

Rajasthan Mukhyamantri Rajshri Yojana: राजस्थान बालिकाओं के जन्म से 12वीं की पढ़ाई तक मिलेंगे 50 हजार रुपये

राजस्थान में Mukhyamantri Rajshri Yojana की शुरुआत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की थी। इसकी घोषणा वित्तीय वर्ष 2016-17 के बजट भाषण के दौरान की गई थी। इसके बाद योजना 1 जून 2016 से राजस्थान में शुरू कर दी गई।

Rajasthan Mukhyamantri Rajshri Yojana की शुरुआत बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच विकसित करने एवं उनके स्वास्थ्य और शैक्षणिक स्तर में सुधार लाने के उद्देश्य से की गई थी। योजना के अंतर्गत 1 जून 2016 या उसके बाद जन्म लेने वाली बालिकाएं पात्र होंगी।

Mukhyamantri Rajshri Yojana के तहत बालिका का जन्म होने से लेकर उसकी स्कूल की पढ़ाई (12वीं कक्षा) तक सरकार द्वारा अलग-अलग किस्त के रूप में 50 हजार रुपये की धनराशि दी जाएगी। इस राशि की मदद से वह अपनी आगे की पढ़ाई भी पूरा कर सकती हैं या फिर अपना कोई काम भी शुरू भी कर सकती हैं।

Mukhyamantri Rajshri Yojana का संचालन महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से किया जाता है। योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि बालिकाओं को प्रोत्साहन मिल सके, जिससे वे अपने पैरों पर खड़ी हों और अपने जीवन को खुशहाल व समर्थ बना सकें।

Rajasthan Mukhyamantri Rajshri Yojana महत्वपूर्ण लिंक

Official Website Link https://wcd.rajasthan.gov.in/home
Apply Form Link https://rajshaladarpan.nic.in/SD3/RajShree/Home/login.aspx

Mukhyamantri Rajshri Yojana का उद्देश्य

  • Mukhyamantri Rajshri Yojana Objective (उद्देश्य)
  • यह राजस्थान सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है।
  • राजस्थान में लड़कियों के जन्म के प्रति सकारात्मक वातावरण बनाने और उनका समग्र विकास करने का है मकसद।
  • योजना का उद्देश्य बालिकाओं के लालन-पालन, शिक्षा और स्वास्थ्य के मामले में होने वाले लिंगभेद को रोकना और बालिकाओं की बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य सुनिश्चित करना है।
  • योजना के अंतर्गत प्रदेश में बालिका के जन्म होने से ले कर उसके 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने तक 6 चरणों में सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • योजना का प्रमुख उद्देश्य प्रदेश में बालिका मृत्यु दर को कम करना और बालिकाओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना है।
  • योजना के तहत पात्र लाभार्थियों को 6 चरणों में राजस्थान सरकार द्वारा 50,000/- रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस राशि का उपयोग करके बालिका के माता-पिता उसकी परवरिश और पढ़ाई पर कर सकेंगे।
  • योजना के तहत केवल वही बालिका पात्र होंगी, जिनका जन्म 01 जून 2016 के बाद हुआ होगा।
  • लाभ लेने के लिए बालिका का जन्म राजकीय चिकित्सालय या अधिकृत निजी चिकित्सालय में होना अनिवार्य है।

Mukhyamantri Rajshri Yojana के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी (बालिकाओं) को 5०,००० की धन राशि प्रदान की जाएगी। यह योजना बालिकाओं को जन्म से लेकर 12वीं पास करने के बाद तक 6 किस्तों में दी जाएगी।
  • योजना का लाभ लेने के लिए माता-पिता के पास आधार कार्ड होना जरूरी हैं।
  • जन्म के समय राजस्थान सरकार द्वारा 2500 रुपये की पहली किस्त लड़की के परिवार को दी जाएगी।
  • योजना के तहत दूसरी किस्त लड़की के जन्म के 1 साल के बाद जब लड़की के सारे टीकाकरण का काम संपन्न हो जाएगा तो राज्य सरकार द्वारा चेक के माध्यम से दी जाएगी।
  • अगली किस्त बालिका के किसी सरकारी विद्यालय में प्रथम कक्षा में प्रवेश लेने पर उसके नाम से 4000 रुपये की राशि दी जाएगी।
  • इसके बाद बालिका के किसी भी सरकारी विद्यालय में कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर उसके नाम से 5000 रुपये की राशि दी जाएगी।
  • उस बालिका द्वारा किसी सरकारी विद्यालय में कक्षा दसवीं में प्रवेश लेने पर 11,000 रुपये और 12वीं कक्षा पास करने पर 25000 रुपये की राशि दी जाएगी।
  • यह राशि बालिका के माता-पिता या अभिभावक के खातों में सीधे ट्रांसफर की जायेगी।
संस्थान में प्रसव होने पर 2,500/- रुपये
बालिका की 1 वर्ष आयु पूर्ण होने पर 2,500/- रुपये
कक्षा 1 में प्रवेश लेने पर 4,000/- रुपये
कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर 5,000/- रुपये
कक्षा 10वीं में प्रवेश लेने पर 11,000/- रुपये
कक्षा 12वीं उत्तीर्ण करने पर 25,000/- रुपये

Mukhyamantri Rajshri Yojana Eligibility की पात्रता एवं शर्तें

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए राजस्थान का मूल निवासी होना जरूरी हैं, तब आप योजना का फॉर्म को भर सकते हैं।
  • मुख्यमंत्री राजश्री योजना का लाभ ऐसी बालिकाओं को मिलेगा, जिनका जन्म 1 जून 2016 या इसके बाद हुआ है।
  • योजना का फायदा लेने के लिए माता-पिता के पास आधार कार्ड होना जरूरी हैं। माता-पिता या अभिभावक को प्रथम किस्त का लाभ लेते समय आधार या जन आधार कार्ड नहीं है, फिर भी प्रथम किस्त का लाभ संस्थागत प्रसव के आधार पर प्रदान किया जाएगा लेकिन दूसरी किस्त का लाभ लेने से पहले आधार या जन आधार कार्ड उपलब्ध करवाना आवश्यक है।
  • पहली और दूसरी किस्त का लाभ सभी संस्थागत प्रसव से जन्म लेने वाली बालिकाओं को मिलेगा। जबकि तीसरी और इसके बाद की किस्तों का लाभ एक परिवार में अधिकतम दो जीवित संतान तक ही सीमित होगा।
  • प्रथम किस्त हेतु राज्य के राजकीय एवं चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा संस्थागत प्रसव हेतु अधिकृत निजी चिकित्सा संस्थानों में प्रसव से जन्म लेना आवश्यक होगा।
  • दूसरी किस्त का लाभ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मातृ शिशु स्वास्थ्य कार्ड या ममता कार्ड के अनुसार सभी टीके लगवाने पर मिलेगा।

आवश्यक दस्तावेज

  • राजस्थान मुख्यमंत्री राजश्री योजना 2023 के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं-
  • ममता कार्ड
  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • माता-पिता का भामाशाह कार्ड
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • बालिका का आधार कार्ड
  • मातृ शिशु स्वस्थ्य कार्ड
  • दो सन्तानो सम्बंधित स्व-घोसणा पत्र
  • महिला का बैंक अकाउंट नंबर

इस प्रकार करें आवेदन

  • यदि आप ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अपने नज़दीकी सरकारी अस्पताल में जाकर संपर्क करना होगा।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आप ज़िला कलेक्टर, ज़िला परिषद ग्राम पंचायत स्वास्थ्य अधिकारी से संपर्क करके इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है।
  • मुख्यमंत्री राजश्री योजना ऑनलाइन आवेदन करने के लिए अपने नजदीकी ई-मित्र केंद्र या फिर अटल सेवा केंद्र की वेबसाइट में जाना होगा।
  • जब आप आवेदन करने जाएंगे, तब आपको अपने साथ सभी डाक्यूमेंट्स साथ ले जाने होंगे।
  • फिर ई-मित्र केंद्र संचालक आपका योजना सम्बंधित फॉर्म भरेगा।
  • संचालक द्वारा फॉर्म जमा करने के बाद एक रिफ्रेंस नंबर आपको दिया जाएगा।
  • रिफ्रेंस नंबर से आप अपने आवेदन की जानकारी देख सकते हैं।
  • इसी प्रकार से आप आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।

Leave a Comment