1. Home
  2. /
  3. Goverment Schemes/Yojana
  4. /
  5. ब्याज माफी योजना-2023: 11...

ब्याज माफी योजना-2023: 11 लाख किसानों का 2415 करोड़ का ऋण माफ करेगी मध्य प्रदेश सरकार

भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहां पर किसानों की स्थिति मजबूत होगी तो देश भी मजबूती से आगे बढ़ेगा। देश के अन्नदाताओं के लिए केंद्र से लेकर राज्य सरकारें समय-समय पर योजनाएं लेकर आती हैं। इसी तरह मध्य प्रदेश सरकार भी किसानों के उत्थान के लिए ब्याज माफी योजना 2023 लेकर आई है।

इसके तहत 11 लाख किसानों को ब्याज के बोझ से मुक्त किया जाएगा। इसकी रूपरेखा सरकार द्वारा तैयार कर ली गई है। इससे किसानों पर चढ़े करोड़ो रुपये के ब्याज को राज्य सरकार माफ कर देगी और ऋण ना चुका पाने की वजह से अपात्र घोषित हुए किसानों को राहत मिलेगी।

हालांकि, ब्याज माफी के लिए किसानों को ऑफलाइन आवेदन करना होगा, जिसके बाद उन्हें योजना का लाभ मिलेगा। यह पूरा ब्याज राज्य सरकार की ओर से माफ किया जाएगा। इसमें उन किसानों को लाभ मिलेगा, जिन्होंने 31 मार्च 2023 तक अपना ब्याज का कर्ज नहीं चुकाया है।

2415 करोड़ रुपये का ब्याज करना है माफ

खेती के लिए ऋण लेने वाले किसान जो समय पर पैसा नहीं दे पाए हैं, उन्हें अपात्र घोषित किया गया है। ऐसे किसानों के ऊपर 6082 करोड़ रुपये का बकाया है। इसमें ब्याज की धनराशि 2415 करोड़ रुपये है।

31 मार्च तक ऋण ना चुकाने वाले किसानों को मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश सरकार योजना का लाभ 31 मार्च 2023 तक कर्ज ना चुका पाने वाले किसानों को देने वाली है। इसके लिए राज्य और जिला स्तर पर समितियां बनेंगी। ऋण ना देने वाले किसानों की सूची समिति स्तर पर तैयार की जाएगी। इसके लिए दावे व आपत्तियां ली जाएंगी और कलेक्टर की अध्यक्षता वाली समिति से सिफारिश के बाद सूची अपेक्स बैंक को भेजी जाएगी। वहां जांच के बाद आयुक्त सह पंजीयक सहकारी संस्थाओं के जरिए इसका प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। ब्याज की राशि मिलने के बाद सहकारी समितियां ब्याज माफी के प्रमाण-पत्र जारी करेंगी।

11 लाख किसानों को मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ब्याज माफी योजना 2023 का लाभ राज्य के 11 लाख किसानों को मिलने वाला है। पात्र किसानों का ब्याज माफ कर दिया जाएगा, जिन्होंने समय पर कर्ज नहीं चुकाया है और वो अपात्र हो गए हैं। योजना का पूरा प्रारूप तैयार कर लिया गया है। इस योजना को विभागीय मंत्री अरविंद भदौरिया की सिफारिश भी मिल गई है।

2 लाख रुपये तक का कर्ज लेने वाले

इस योजना का लाभ उठाने के लिए वही किसान पात्र होंगे, जिन्होंने 2 लाख रुपये तक का ब्याज लिया है। विशेषकर वो किसान जिन्होंने प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों से कर्झ लिया हो। राज्य में हर साल 4536 किसान खरीफ और रबी की फसलों के लिए थोड़े समय के लिए कर्ज लेते हैं। यह कर्जा किसानों को बिना ब्याज के दिया जाता है। खरीफ की फसल के लिए लिया गया कर्ज किसानों को 28 मार्च और रबी की फसल के लिए लिया गया कर्ज किसानों को 15 जून तक चुकाना होता है। इस समय के बीत जाने के बाद 13 प्रतिशत की दर से ब्याज लगाए जाने का प्रावधान है। इसकी गिनती कर्ज लेने की तिथि से की जाती है।

योजना के लाभ के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • किसान का आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • बैंक खाता पासबुक
  • चालू मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण-पत्र
  • जाति प्रमाण-पत्र,
  • निवास प्रमाण-पत्र
  • 4 पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ आदि

इस तरह करें आवेदन

  • योजना का लाभ मध्यप्रदेश के किसानों को मिलेगा। इसके लिए आवदेन करने को सभी किसानों को पहले अपने इलाके के कृषि विभाग कार्यालय जाना होगा।
  • वहां पर किसान भाइयों को ब्याज माफी योजना 2023 का आवेदन-फार्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म को ध्यानपूर्वक पहले पढ़ें और उसके बाद उसमें मांगी गई जानकारियों को भरें।
  • फॉर्म के अंतर्गत मांगे जाने वाले सभी आवश्यक दस्तावेजों को स्व-अभिप्रमाणित करके फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  • आखिर में उसको कार्यालय में जमा करके उसकी रसीद प्राप्त करनी होगी।

Leave a Comment