1. Home
  2. /
  3. Goverment Schemes/Yojana
  4. /
  5. बिजली के बिल से...

बिजली के बिल से हैं परेशान तो छत पर लगाएं सोलर पैनल, सरकार दे रही है 40 प्रतिशत तक सब्सिडी

जिस रफ्तार से समय बदल रहा है, उस हिसाब से पूरी दुनिया को जल्द ही बिजली पर निर्भर होना पड़ेगा। प्राकृतिक संसाधनों के हद से ज्यादा वहन और प्रदूषण के बढ़ते स्तर के बाद गाड़ियां भी इलेक्ट्रिक में तब्दील हो चुकी हैं। ऐसे में फिर चाहे टू व्हीलर हो या फोर व्हीलर या हेवी व्हीकल। हर घर में बिजली की खपत बढ़ती जा रही है। इसकी वजह से मांग और महंगाई का स्तर भी बढ़ता जा रहा है।

ऐसे में लोग कम खर्च में ही बिजली का उपयोग कर सकें और देश में सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा सके इसके लिए केंद्र सरकार लगातार कोशिश में जुटी है। केंद्र सरकार ने बिजली की खपत को सौर ऊर्जा से पूरा करने के लिए सोलर रूफटॉप इंस्टॉलेशन पर सब्सिडी देना शुरू किया है। अगर आप भी हद से ज्यादा बिजली के बिल से परेशान हैं और उसे कम करना चाहते हैं तो केंद्र सरकार इसमें आपका पूरा सहयोग करेगी।

हम अपने इस आर्टिकल में आपको सोलर रूफटॉप सब्सिडी योजना 2023 के बारे में सभी जरूरी जानकारियां देंगे कि कैसे इसका लाभ उठाएं और आवेदन की प्रक्रिया से लेकर विशेषताओं को जान पाएं। बस आपको ये आर्टिकल अंत तक ध्यान से पढ़ना होगा, जिसके बाद सारी चीजें समझ में आ जाएंगी।

घर से लेकर दफ्तरों और कारखानों तक के लिए दी जा रही सहूलियत

अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने सब्सिडी की सहूलियत आवास से लेकर दफ्तरों और कारखानों तक को देने की योजना बनाई है। इसके तहत कोई भी छत पर सोलर पैनल लगवा सकता है। सोलर पैनक का लाभ लगाने वाले को 25 वर्ष तक मिलेगा। ऐसे में आपके द्वारा उत्पादित की जा रही बिजली की वजह से खपत पर बिल भी ना के बराबर हो जाएगा और पैनल की लागत भी 5 से 6 साल में निकल आएगी।

40 प्रतिशत तक मिलती सब्सिडी

केंद्र सरकार की योजना के अंतर्गत छत पर सोलर पैनल लगवाने के बारे में सोच रहे हैं तो इसका तुरंत लाभ उठाएं। दरअसल, 3 किलोवॉट क्षमता के सोलर पैनल पर केंद्र की ओर से 40 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान की जाती है। 500 किलोवॉट तक का सोलर रूफटॉप लगाने के लिए केंद्र की ओर से 20 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। इसमें एक किलोवॉट सौर ऊर्जा के लिए 10 वर्ग मीटर जगह की जरूरत पड़ती है।

इतना आता है खर्च

न्‍यू एंड रिन्यूएबल एनर्जी मंत्रालय से रूफटॉप सोलर प्‍लांट पर 30 फीसदी सब्सिडी का फायदा उठा सकते हैं। अपने खर्च से पैनल लगवाएंगे तो करीब एक लाख रुपये का खर्च आएगा। सोलर प्लांट खुद लगाएं या रेस्को मॉडल, उसमें निवेश आपकी जगह डेवलपर करेगा।

इस तरह लगवाएं

पहले स्थानीय विद्युत कंपनियों से लाइसेंस लेना होगा। बिजली कंपनी के साथ पावर परचेज समझौते पर हस्ताक्षर करना होगा। प्रति किलोवॉट में 60 से 80 हजार रुपये खर्चा आएगा। अभी 3 किलोवॉट तक के सोलर रूफटॉप पर 40 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है। फिर 10 केवी तक 20 प्रतिशत सब्सिडी मिलती है।

ये होनी चाहिए पात्रता

  • योजना का लाभ भारत के स्थायी निवासी को मिलेगा।
  • सोलर इंस्टालेशन का परिसर डिस्कॉम के उपभोक्ता के स्वामित्व का है या उपभोक्ता के कानूनी कब्जे में है।
  • सोलर रूफटॉप सिस्टम में लगाए सोलर सेल और मॉड्यूल भारत में ही बने होने चाहिए।

इन दस्तावेजों की पड़ेगी आवश्यकता

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • वोटर आईडी
  • बैंक पासबुक
  • आय प्रमाण-पत्र
  • बिजली बिल
  • छत की फोटो, जहां पैनल लगना हो।
  • मोबाइल नंबर

इस तरह करें आवेदन

  • आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर जाएं।
  • एप्लाई के विकल्प पर क्लिक करें।
  • फिर नया पेज सामने आएगा।
  • उस पर राज्य के मुताबिक आधिकारिक वेबसाइट चुननी होगी।
  • फिर एप्लाई ऑनलाइन पर क्लिक करें।
  • रजिस्ट्रेशन फार् में सभी जरूरी जानकारियां भरें।
  • उसमें जरूरी दस्तावेज संलग्न करें।
  • सबमिट के बटन पर क्लिक करें और आवेदन प्रक्रिया पूरी।

Leave a Comment