1. Home
  2. /
  3. Goverment Schemes/Yojana
  4. /
  5. राजस्थान सरकार चला रही...

राजस्थान सरकार चला रही है छात्रा प्रोत्साहन योजना, बालिकाओं को दे रही 40,000 रुपये अनुदान

राजस्थान सरकार राज्य में कृषि क्षेत्र के विकास और किसानों के लिए कई सारी योजनाएं चला रही है। इन योजनाओं के माध्यम से किसानों और उनके परिवारों को आर्थिक लाभ दिया जाता है। इन्हीं योजनाओं में से एक है छात्रा प्रोत्साहन योजना। इस योजना के अंतर्गत राजस्थान की रहने वाले छात्रा, जो कृषि क्षेत्र में शिक्षा हासिल करके उसी में अपना भविष्य बनाना चाहती हैं, उनको राज्य सरकार अनुदान/स्कॉलरशिप दे रही है।

इसका उद्देश्य छात्राओं को भी कृषि विषय में पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित करना है, ताकि प्रदेश की बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा मिल सके। इसके तहत कृषि की पढ़ाई करने वाली छात्राओं को छात्रवृत्ति के रूप में 40,000 रुपये तक का अनुदान देने की व्यवस्था की गई है।

अगर आप भी राजस्थान की छात्रा हैं और कृषि की पढ़ाई कर रही हैं तो राजस्थान सरकार की ओर से मिलने वाले अनुदान का लाभ उठाएं। हम यहां आपको किस तरह से अनुदान दिया जाएगा, किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी, क्या अहर्ताएं होंगी, इन सबकी जानकारी देंगे। बस अंत इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें।

राजस्थान सरकार ने 2023 में की अनुदान में बढ़ोतरी

  • छात्रा प्रोत्साहन योजना के लिए राजस्थान सरकार ने नए वर्ष के बजट में इसके तहत दी जाने वाली अनुदान राशि में वृद्धि करने की घोषणा की है।
  • पिछले साल के आंकड़ों के अनुसार, कक्षा 11वीं और 12वीं में कृषि की पढ़ाई करने वाली छात्राओं को 5,000 रुपये की छात्रवृत्ति दी जाती थी, जिसे अब बढा़कर पूरे 15,000 रुपये कर दिया गया है।
  • वे छात्राएं जो कृषि विषय में ही स्नातक और परास्नातक कर रही हैं, उन्हें पहले 12,000 रुपये का अनुदान दिया जाता था, जिसे बढ़ाकर अब 25,000 रुपये कर दिया गया है।
  • जो छात्राएं कृषि विषय में ही पीएचडी कर रही हैं, उन्हें पहले 15,000 रुपये की राशि दी जाती थी। अब उसे भी बढ़ाकर 40,000 रुपये कर दिया गया है।
  • शिक्षा के हर स्तर पर राज्य सरकार द्वारा अनुदान दिया जा रहा है, ताकि छात्राएं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकें और कृषि के क्षेत्र में उज्ज्वल भविष्य बना सकें।

योजना के लिए ये है पात्रता

  • सिर्फ राजस्थान की रहने वाली छात्राएं ही इस योजना के लिए आवेदन करने की असली हकदार होंगी।
  • गांव के साथ शहरों में रहने वाली छात्राएं भी छात्रा प्रोत्साहन योजना का लाभ ले सकती हैं।
  • योजना का लाभ उठाने के लिए छात्रा के पास स्वयं का बैंक खाता जरूर होना चाहिए।
  • योजना की पात्रता में आधार कार्ड का बैंक से जुड़ा होना आवश्यक है और डीबीटी सेवा सक्रिय होनी जरूरी है।
  • प्रोत्साहन राशि सीधे खाते में दी जाएगी।

इनको नहीं मिलेगी राशि

  • गत वर्ष अनुत्तीर्ण होने वाली छात्राओं को पुनः उसी कक्षा में प्रवेश लेने पर अनुदान राशि नहीं दी जाएगी।
  • जिन छात्राओं ने श्रेणी में सुधार के लिए उसी कक्षा में पुनः प्रवेश लिया हो, उन्हें अनुदार राशि नहीं दी जाएगी।
  • सत्र के मध्य विद्यालय/ महाविद्यालय/विश्वविद्यालय छोड़कर जानें वाली छात्राओं को भी अनुदान राशि नहीं दी जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • जन आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पिछले वर्ष उत्तीर्ण कक्षा परिणाम
  • संस्था के प्रमुख का ई-हस्ताक्षर प्रमाण पत्र
  • संस्थान का नियमित छात्र होने का प्रमाण पत्र

इस तरह करें आवेदन

  • योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति का आवेदन करने के लिए सर्वप्रथम छात्रा को अपने नजदीकी कृषि विभाग के कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां पहुंचने के बाद अध्ययनरत छात्राओं को प्रोत्साहन राशि के लिए आवेदन पत्र लें।
  • इसके बाद ध्यानपूर्वक आवेदन पत्र को भरना होगा।
  • मांगे जाने वाले सभी दस्तावेजों को स्व-अभिप्रमाणित करके आवेदन फॉर्म के साथ संलग्न करें।
  • आखिर में सभी दस्तावेजों और आवेदन फॉर्मों को उसी कार्यालय मे जमा करके उसकी रसीद प्राप्त करनी होगी।

 

Leave a Comment