1. Home
  2. /
  3. State Board Result 2023
  4. /
  5. अगर ना चले UP...

अगर ना चले UP Result board 2023 Website तो SMS से भी जान सकते हैं यूपी बोर्ड का रिजल्ट

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद इस बार स्टूडेंट्स के रिजल्ट जल्दी जारी करने के लिए विशेष रूप से सक्रिय है। बोर्ड की मंशा इस बार रिकॉर्ड समय में परिणाम जारी करने की है।

दरअसल, हर बार किसी ना किसी वजह से बोर्ड के परिणाम बहुत देर से आते थे, जिसकी वजह से स्टूडेंट्स को परेशानी होती थी। एक बार जल्दी परिणाम आने के बाद स्टूडेंट्स को आगे की योजना बनाने के लिए काफी समय मिल जाएगा।

सूत्रों की मानें तो इस बार परिणाम अप्रैल के आखिरी सप्ताह तक आने की उम्मीद है। ऐसे में हम आपको परिणाम जारी होने के बाद उसे जल्द से जल्द आप तक पहुंचने की तरकीब बताने जा रहे हैं।

ऐसे भी पता चलेगा रिजल्ट

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् के यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का रिजल्ट 15 से 20 से दिनों बाद जारी होने की संभावना है। परिणाम घोषित होने के बाद उन्हें आधिकारिक वेबसाइट्स पर डाला जाएगा। ऐसे में जो भी छात्र व छात्राएं परीक्षा में शामिल हुए थे, वे अपने रोल नंबर के आधार पर अपना रिजल्ट देख सकते हैं।

हालांकि, हर बार ही ऐसा होता है कि लाखों विद्यार्थियों के अपने परिणाम देखने की वजह से वेबसाइट्स बैठ जाती हैं और पूरी तरह से काम नहीं करती हैं। इस परेशानी से उबरने के लिए आपके पास एसएमएस के जरिए भी रिजल्ट पता करने का विकल्प होगा।

विषय यूपी बोर्ड रिजल्ट
गत वर्ष 2023
यूपी बोर्ड परीक्षा कब से कब तक हुई (हाईस्कलू) 16 फरवरी से 3 मार्च 2023
यूपी बोर्ड परीक्षा कब से कब तक हुई (हाईस्कलू) 16 फरवरी से 4 मार्च 2023

 

इस तरह करें पता

  • हाईस्कूल या इंटरमीडिएट का रिजल्ट देखने के लिए स्टूडेंट्स को सिर्फ UP10/UP12 लिखकर स्पेस देना होगा।
  • इसके बाद अपना रोल नंबर लिखना होगा।
  • टाइप किए गए मैसेज को अब इस फॉर्मेट में 56263 पर भेजना होगा।
  • बस कुछ ही देर में रिजल्ट स्क्रीन पर आपके सामने आ जाएगा।

10वीं, 12वीं में परिणाम में ये आएंगे विवरण

बोर्ड रिजल्ट देखने पर पता चलेगा कि छात्र के कुछ बुनियादी विवरण उसमें नजर होंगे। आइए उन विवरणों के बारे में जानते हैं जो ऑनलाइन यूपी बोर्ड परिणाम 2023 में दिए होंगे।

  • कक्षा (10वीं या 12वीं)
  • छात्र का नाम
  • रोल नंबर
  • पिता का नाम
  • माता का नाम
  • जिला / स्कूल कोड
  • समूह कोड
  • विषय-वार अंक
  • कुल अंक
  • अधिकतम अंक
  • परिणाम

3 करोड़ से ज्यादा करोड़ कॉपियां तय समय से एक दिन पहले जांचीं

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् द्वारा संचालित हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं को जांचने का काम पूरा करने के लिए 1 अप्रैल की तारीख निर्धारित की गई थी। मगर बोर्ड ने समय से एक दिन पहले यानी 31 मार्च को ही कॉपियां चेक करने का सारा काम पूरा कर लिया । 3.19 करोड़ कॉपियों को जांचने के लिए 1,43,933 शिक्षक लगाए गए थे।

कॉपियां जांचने के लिए बने थे 258 केंद्र

पूरे उत्तर प्रदेश के हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के लाखों परीक्षार्थियों की कॉपियों की जांच के लिए 258 केंद्र बनाए गए थे। केंद्र के 100 मीटर के दायरे में धारा 144 लगाई गई थी, ताकि मूल्यांकन कार्यों में कोई व्यवधान ना पड़े। साथ ही मूल्यांकन केंद्रों की जिम्मेदारी स्टैटिक मैजिस्ट्रेट को दी गई है। किसी तरह की कोई गड़बड़ी ना हो इसके लिए यूपीएमएसपी मूल्यांकन पर नजरें जमाए हुए था। सीसीटीवी की निगरानी में सारे कार्य किए जा रहे थे।

16 फरवरी से शुरू हुई थीं परीक्षाएं

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 16 फरवरी से शुरू हुई थीं। हाईस्कूल की परीक्षा 3 मार्च और इंटरमीडिएट की परीक्षा 4 मार्च को समाप्त हुई थी। 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं दो पालियों में आयोजित की गई थीं। पहली पाली की परीक्षाएं सुबह 8 से 11.15 बजे तक हुई थीं, जबकि दूसरी पाली की परीक्षाएं दोपहर 2 बजे से शाम 5.15 बजे तक हुई थीं। यूपी बोर्ड परीक्षा प्रदेशभर के 75 जिलों के कई परीक्षा केंद्रों पर हुई। इसके लिए 58,85,745 छात्र-छात्राओं ने अपना पंजीकरण कराया था।

 

 

Leave a Comment